follow-your-visions-ideals

सपने और आदर्श

Posted by

जेम्स एलेन (James Allen) अपनी प्रसिद्ध कृति “जैसा कि एक व्यक्ति सोचता है” (As A Man Thinketh) में कहते हैं: Visions and Ideals: सपने देखने वाले दुनिया के रक्षक हैं। जैसे कि दृश्यमान संसार अदृश्य के माध्यम में टिका हुआ है, उसी प्रकार इंसान, उनके इम्तिहान, पाप और घिनौनी करतूत आदि के बावजूद भी, कुछ लोगो द्वारा एकान्त में देखे गए सपनों की सुंदरता की वज़ह से ही वे समस्त मानव पोषित होते हैं।

मानवता अपने स्वप्नदर्शी लोगो को नहीं भूल सकती; उनके आदर्शों को धूमिल होकर मरने नहीं दे सकती। वे आदर्श मानवता के दिल में ऐसी वास्तविकताओं हैं जिन्हे एक दिन स्पष्ट देखना और जानना संभव होगा। संगीतकार, मूर्तिकार, चित्रकार, कवि, पैगंबर, ऋषि, ये हैं दुनिया के परे स्वर्ग के रचियता। विश्व सुंदर है क्योंकि वे इसमें रहे हैं अन्यथा उनके बिना, श्रमिक-सी घिसटती मानव-जाति का विनाश हो गया होता। Follow Your Visions and Ideals.

अपने सपनों अपने आदर्शों को संजोएं

जो एक सुंदर दृष्टि रखता है, अपने दिल में एक बुलंद आदर्श का पालन करता है, वह एक दिन इसे प्राप्त करेगा। कोलंबस ने दूसरी दुनिया के सपने को पोषित किया और उसने इसकी खोज की।  कोपरनिकस ने बहुल दुनिया और एक व्यापक ब्रह्मांड की दृष्टि को पाला और उसने इसे प्रकट किया। बुद्ध ने बेदाग सौंदर्य से भरपूर आध्यात्मिक दुनिया और पूर्ण शांति की कल्पना की और वह उसमें प्रवेश कर गया। They Achieved their Visions and Ideals.

अपने सपनों, अपने आदर्शों को संजोएं; आपके दिल के संगीत को संजोएं। आपके दिमाग में बनने वाली सुंदरता, प्यार जो आपके शुद्ध विचारों को सजाए हुए है, उन सब को संजोएं क्योंकि उन सभी में से आनंददायक परिस्थितियों और स्वर्गतुल्य वातावरण बनेगा और यदि आप उनके प्रति सच्चे रहते हैं, तो आखिरकार आपकी मनोरम दुनिया निर्मित होगी।

Follow Your Lofty Visions and Ideals: इच्छा करना प्राप्त करना है; आकांक्षा करना, हासिल करना है। क्या आदमी की तुच्छ इच्छाओं की पूर्ति, संतुष्टि हो जाए और उसकी शुद्ध आकांक्षाएँ सहारे के अभाव में भूखी रह जाएँ? ऐसा कानून नहीं है: ऐसे वातावरण में “मांगो और प्राप्त करो।” जैसी परम स्थिति नही आ सकती।

आप कैसे सपने देखते हैं? Read More

Follow Rao TS

Sharing is Caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published.