gandhi-on-consumerism

गांधी: पृथ्वी पर सबकी आवश्यकता हेतु पर्याप्त है

महात्मा गांधी ने उपदेश देने से पहले हमेशा स्वयं सत्य का अभ्यास किया| उनके जीवन की तीन घटनाओं के प्रकाश में , उपभोक्तावाद पर उनका बहुत प्रसिद्ध उद्धरण स्वसिद्ध होता है|

Continue Reading