power-of-thoughts

विचारों की शक्तियां और उनके चमत्कारिक लाभ

Posted by

जेम्स एलेन (James Allen) अपनी प्रसिद्ध कृति “दरिद्रता से शक्ति तक” (Poverty to Power) में कहते हैं: Power of Thoughts: ब्रह्मांड में सबसे शक्तिशाली बल मौन हैं और अपनी शक्ति की तीव्रता के अनुसार एक बल लाभकारी हो जाता है जब वह सही तरीके से निर्देशित किया जाता है और गलत तरीके से इस्तेमाल होने पर विनाशकारी। यह बात यांत्रिक शक्तियों जैसे कि भाप, बिजली, आदि के संबंध में एक सामान्य ज्ञान है लेकिन कुछ ही लोगो ने अभी तक इस ज्ञान को दिमाग के दायरे में लागू करना सीखा है। उस दिमाग के दायरे में जहां विचार-बल (सबसे शक्तिशाली बल) लगातार उत्पन्न हो रहे हैं और वे मोक्ष या विनाश की धाराओं के रूप में बाहर भेजे जा रहे हैं।

नकारात्मक विचारों को दूर करने का उपाय Removing Negative Power Thoughts

प्राचीन ऋषि मुनियो ने सर्वोच्च कानून के अपने संपूर्ण ज्ञान के साथ, बाहर की घटनाओं को हमेशा भीतर की सोच से संबंधित किया। और किसी भी काल खंड में देश में प्रभुत्व रखने वाले विचारों और इच्छाओं के साथ राष्ट्रीय आपदा या सफलता को संबद्ध किया। युद्ध, विपत्तियां और अकाल गलत तरीके से निर्देशित विचार-बलों का मिलन और टकराव हैं जिनके परिणाम स्वरूप विनाश आता है। मन की ऐसी अवस्थाओं से ही सभी कमजोरियां और विफलताएं बढ़ती हैं क्योंकि वे सकारात्मक विचार-बलों के विनाश का कारण होती हैं अन्यथा वे शक्ति के साथ अपनी दिशा को गति देकर लाभकारी परिणाम ला सकती थी।

इन नकारात्मक परिस्थितियों को दूर करना यानि शक्तिशाली जीवन में प्रवेश करना है, एक ग़ुलाम रहना बंद करके एक स्वामी बनना है और केवल एक ही तरीका है जिससे नकारात्मक परिस्थितियों को नष्ट कर सकते हैं और वह है भीतर के ज्ञान में स्थिर और लगातार विकास करना। ऐसा कुछ नहीं है जो एक मजबूत विश्वास और अडिग उद्देश्य पूरा न कर सके। मौन विश्वास के दैनिक अभ्यास से, विचार-बलों को एक साथ इकट्ठा किया जाता है। और मौन उद्देश्य के दैनिक सुदृढ़ीकरण द्वारा, उन बलों को सिद्धि की ओर निर्देशित किया जाता है।

इससे पहले कि आप अपने दिमाग को पूरी तरह से शांत कर पाएँ यह हो सकता है कि आपको दिन रात प्रयास करना होगा लेकिन अगर आप दृढ़ रहेंगे तो आप निश्चित रूप से इसे पूरा कर पाएंगे। और आपको शांति के उस समय में जो राह उपलब्ध होगी उसे पूरा करना चाहिए।

विचार जो बाहर गया है वह कहाँ जाएगा? Read More

Follow Rao TS

Sharing is Caring!

Leave a Reply

Your email address will not be published.